Blog image

ब्लेडलेस लेसिक सर्जरी: आँखों के लिए कितना है फायदेमंद

DR. ARUN SINGHVI In Lasik

Jul 05, 2024 | 1 min read

आज की तेजी से बदलती तकनीकी दुनिया में, मेडिकल साइंस का एक ऐसा क्षेत्र है जिसने आँखों के इलाज में क्रांति ला दी है – वह है लेसिक सर्जरी। यह उपचार उन लोगों के लिए वरदान साबित होता है जिनकी आँखों की दृष्टि खराब हो गई है और जो चाहते हैं कि वे बिना किसी चश्मे या लेंस के समय की समस्याओं के बिना जीवन का आनंद उठा सकें। इस तकनीकी उपचार में ब्लेडलेस लेसिक सर्जरी ने बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान हासिल किया है।

 

लेसिक सर्जरी क्या है?

 

लेसिक सर्जरी एक प्रकार का उपचार है जिसमें आँख के कॉर्निया में छोटा सा कट किया जाता है ताकि उसकी परत बदल दी जा सके और रोशनी को सही ढंग से रेफ्रैक्ट किया जा सके। इस प्रकार की सर्जरी में पहले एक छोटे से कट से आँख की परत में एक छेद किया जाता है, और फिर उसमें उत्तेजक लेजर लाइट का उपयोग करके कॉर्निया को समतल किया जाता है।
ब्लेडलेस लेसिक सर्जरी क्या है?

 

ब्लेडलेस लेसिक सर्जरी, जिसे अंग्रेजी में ‘Bladeless LASIK Surgery‘ कहा जाता है, वह लेसिक सर्जरी का एक उन्नत रूप है इसमें एक विशेष तकनीक का उपयोग किया जाता है जिसमें फेमटोसेकंड लेजर शामिल होता है, जो बिना किसी संपर्क में कॉर्निया को समतल करने के लिए उपयुक्त होता है। इस प्रक्रिया में लेजर तकनीक का उपयोग करके आँख की परत को छेदने और समतल करने का काम किया जाता है, जिससे प्रकार रोशनी को सही ढंग से रेफ्रैक्ट किया जा सकता है।
ब्लेडलेस आँखों की सर्जरी के प्रकार हैं

 

1. फेमटोसेकंड लेसिक: इस प्रकार में, फेमटोसेकंड लेजर का उपयोग होता है कॉर्नियल फ्लैप बनाने के लिए। इस प्रक्रिया में, पहले फेमटोसेकंड लेजर से कॉर्निया फ्लैप बनाया जाता है, फिर एक्साइमर लेजर से कॉर्निया को दोबारा आकार दिया जाता है। फेमटोसेकेंड LASIK ब्लेडलेस तकनीक को फॉलो करता है और एक सुरक्षित और प्रभावशाली उपाय प्रदान करता है।

2. इंट्रालेसिक: ये एक और प्रकार है ब्लेडलेस लेसिक का, जिसमें फेमटोसेकंड लेजर का उपयोग कॉर्नियल फ्लैप बनाने के लिए होता है। इंट्रालासिक में भी पहले कॉर्निया फ्लैप बनाया जाता है फेमटोसेकंड लेजर से, फिर एक्साइमर लेजर से कॉर्निया को दोबारा आकार दिया जाता है। क्या प्रकार में भी किसी भी फिजिकल ब्लेड का उपयोग नहीं होता है, जो सर्जिकल परिशुद्धता और सुरक्षा को बढ़ाता है।

3. फेमटो-लेसिक: फेमटो-लेसिक नाम से जाना जाने वाला ये एक और ब्लेडलेस लेसिक सर्जरी का प्रकार है। क्या प्रकृति में भी फेमटोसेकंड लेजर का उपयोग कॉर्नियल फ्लैप बनाने के लिए होता है, फिर एक्साइमर लेजर से कॉर्नियल रीशेप किया जाता है। फेमटो-लेसिक भी ब्लेडलेस सर्जरी तकनीक है और उपचार में सर्जिकल सटीकता को बड़ा दिया गया है।

प्रकृति में, फेमटोसेकेंड लेजर का उपयोग कॉर्नियल फ्लैप बनाने के लिए किया जाता है, जो पारंपरिक लेसिक सर्जरी में छुरी का उपयोग करके किया जाता है। ये ब्लेडलेस तकनीक सर्जिकल परिशुद्धता, सुरक्षा और पोस्ट-ऑपरेटिव रिकवरी में सुधार लाते हैं, और अक्सर लॉग इन प्रक्रियाओं को पारंपरिक LASIK से अधिक समझाते हैं।

 

ब्लेडलेस तकनीक के फायदे

 

1. सुरक्षितता: ब्लेडलेस लेसिक सर्जरी के दौरान कम समय में ज्यादा सुरक्षितता प्रदान करती है क्योंकि छुरा का उपयोग नहीं होता है। इससे संदेहनीय परिणामों का जोखिम भी कम होता है।
2. दर्दमुक्त: छुरा के उपयोग के बिना, इस प्रक्रिया में छेदन से जुड़े दर्द का कोई प्रश्न नहीं होता है।
3. त्वरित रिकवरी: इस सर्जरी के बाद रिकवरी समय भी कम होता है। अक्सर लोग अगले दिन से ही अपनी सामान्य गतिविधियों में वापस लौट सकते हैं।
4. उत्तम नतीजे: ब्लेडलेस तकनीक एक अधिक निश्चित और धीरे-धीरे निष्क्रिय करने वाली प्रक्रिया है, जो अधिकतम चश्मे और लेंस के साथ की तुलना में अधिक स्थायी नतीजे देने की क्षमता रखती है।
5. अनुकूलता: इस प्रक्रिया को अनेक अनुकूलताओं में भी उपयोग किया जा सकता है, जैसे कि लंबाई, आँख की कुछ विशेष धाराओं के साथ गंभीरता, और आयु।

 

ब्लेडलेस लेसिक सर्जरी का आयुर्विज्ञान में महत्व

 

ब्लेडलेस लेसिक सर्जरी आधुनिक युग की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है, जो आज के समय में बदलती आँखों के इलाज का एक सुरक्षित, प्रभावी और तेज़ साधन प्रदान करती है। ब्लेडलेस लेसिक का लाभ यह है कि यह बिना किसी चीरे के किया जाता है, जिससे मरीज की आंखों पर कोई अतिरिक्त दबाव नहीं पड़ता है।

 

ब्लेडलेस लेसिक सर्जरी अनेक लोगों के लिए विशेष रूप से उपयुक्त होती है, जो अपनी दृष्टि को सुधारने के लिए इस प्रकार के आधुनिक और सुरक्षित तकनीक की तलाश में हैं। इसके साथ ही, इस प्रकार की सर्जरी के अनुभवी सर्वश्रेष्ठ लेजर नेत्र सर्जन और उच्च तकनीकी संसाधनों का प्रयोग करते हुए भारत का शीर्ष नेत्र विशेषज्ञ अस्पताल (Eye Specialist Hospital)- एएसजी नेत्र अस्पताल (ASG Eye Hospital) यह सुनिश्चित करता है कि प्रत्येक रोगी को उच्चतम स्तर की देखभाल प्राप्त हो।

Like345 Share456

Written and Verified by:

DR. ARUN SINGHVI

DR. ARUN SINGHVI

MBBS, MD (AIIMS, NEW DELHI) & FRCS (A)

MEET THE EXPERT

Related Blogs

Get a Call Back

By Specialities

Book Appointment Call now 1800 1200 111