Blog image

लेसिक आई सर्जरी के बाद क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

DR. LIPI MITTAL In Lasik

Jun 27, 2024 | 1 min read

लेसिक आई सर्जरी आँख की एक प्रक्रिया है जिसमें लेज़र की तकनीक का उपयोग करके चश्मा हटाने या दृष्टि सुधारने के लिए नेत्रों की सर्जरी की जाती है। इस प्रकार की सर्जरी में, विशेष प्रकार के लेज़र उपकरण का उपयोग रोगी की आँख की स्थिति और आवश्यकताओं के अनुसार किया जाता है। यह चिकित्सा प्रक्रिया अक्सर LASIK (लेज़र इन-साइटू केरटोमाइलियसिस) या PRK (फोटोरेफ्रैक्टिव केरटेक्टोमी) नामक तकनीकों के तहत की जाती है। यह प्रक्रिया आमतौर पर दृष्टि को सुधारने के लिए की जाती है, जैसे कि निकट दृष्टि, दूर दृष्टि, अस्थिगम्याता (चश्मा लगाने की जरूरत) और अन्य नेत्र समस्याओं का इलाज करने के लिए। यह प्रक्रिया विशेषज्ञ नेत्र चिकित्सक द्वारा की जाती है, जो रोगी की स्थिति को विश्लेषण करने के बाद सर्जरी की योजना बनाते हैं। इस ब्लॉग में, हम आपको लेसिक आई सर्जरी के बाद की सावधानियां बताएंगे जो आपके लिए उपयुक्त हो सकती हैं।

 

इस प्रक्रिया में कुछ मुख्य चरण होते हैं। पहला चरण होता है प्रारंभिक मूल्यांकन और परामर्श, जिसमें आपकी आंखों का विस्तृत परीक्षण किया जाता है और आपकी आंखों की स्वास्थ्य का मूल्यांकन होता है।

 

इसके बाद, सर्जरी के दिन आपकी आंखों को स्थानीय अंधविशेषण द्वारा नंब किया जाता है। अगर LASIK जैसी सर्जरी हो, तो कोरनिया के सतह पर एक पतला फ्लैप बनाया जाता है जिसे उठाकर आंतरिक कोरनियल ऊतक तक पहुंचा जाता है। फिर, एक्सीमर लेजर की मदद से कोरनिया को फिर से आकार दिया जाता है ताकि दृष्टि समस्या सुधारी जा सके। सर्जरी के बाद, आपको कुछ समय तक निगरानी में रखा जाता है और चिकित्सक द्वारा दिए गए ड्रॉप्स का सही रूप से उपयोग किया जाता है। आपकी आँखों की स्थिति को निगरानी के लिए आपको कई फॉलो-अप जांचों का समय-समय पर भी लेना होता है।

 

लेसिक आई सर्जरी के बाद की सावधानियां:

लेसिक आई सर्जरी एक तेजी से विकसित हो रही तकनीक है इस सर्जरी के बाद व्यक्ति को कुछ सावधानियों का पालन करना बहुत महत्वपूर्ण होता है। 

 

आंखों की सुरक्षा

लेसिक आई सर्जरी के बाद, आपको अपनी आंखों की देखभाल पर विशेष ध्यान देना चाहिए। इसमें शामिल है:

 

  • आंखों को छूने से बचें: सर्जरी के बाद, आपको अपनी आंखों को हाथ से नहीं छूना चाहिए। यह इंफेक्शन के जोखिम को कम करता है।
  • दवाइयों का सही तरीके से उपयोग करें: अपने चिकित्सक द्वारा बताई गई दवाइयों को सही तरीके से और समय पर लें। इससे आपकी आंखों के लिए सहायक होगा।
  • सर्जरी के बाद की नियमित निरीक्षण: जैसे कि आपके डॉक्टर द्वारा सुझाए जाने पर, आपको अपनी आंखों की स्थिति का नियमित रूप से अवलोकन करवाना चाहिए। इससे समस्याओं का जल्दी से पता चल सकता है और सही समय पर उपचार हो सकता है।

 

आंखों की सुरक्षा के लिए सावधानियां

  • आंखों को धूप से बचाएं: सर्जरी के बाद आपकी आंखों को धूप से बचाना बहुत महत्वपूर्ण होता है। विशेषकर प्राकृतिक धूप में बाहर जाते समय, आपको अपनी आंखों को समुचित रूप से सुरक्षित करना चाहिए।
  • समय पर आँखों की जाँच करवाएं: यदि आपको किसी भी तरह की चिंता या असुविधा महसूस होती है, तो तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श करें। अनवांटेड संकेतों को अनदेखा न करें।

 

दवाओं का अनुसरण करें

  • दवाइयों का सही समय पर सेवन करें: अपने चिकित्सक द्वारा बताई गई दवाइयों को नियमित रूप से सही समय पर लें। यदि कोई दवा बंद करने की अनुमति देता है, तो उसका अनुसरण करें।

 

स्क्रीन टाइम की नियंत्रण

लेसिक आई सर्जरी (LASIK Eye Surgery) के बाद, आपकी आंखें अधिक संवेदनशील हो सकती हैं और ज्यादा समय तक स्क्रीनों पर लगातार काम करना आपकी आंखों को थका देता है। इसलिए, इस समय में स्क्रीन टाइम को कम करना उचित होता है। यदि आपको लगता है कि आपको काम करना होगा, तो नियमित अंतराल पर छोटे विश्राम के बाद आगे बढ़ने का प्रयास करें।

 

अधिक स्क्रीन टाइम स्क्रीन रेटिना के लिए अधिक दबाव डालता है जो आपकी आंखों को हानि पहुंचा सकता है। इसके अलावा, ब्लू लाइट जो इलेक्ट्रॉनिक स्क्रीन से आता है, वह भी आंखों पर अवरुद्ध है। इसलिए, स्क्रीन प्रदर्शन के दौरान ब्लू लाइट फ़िल्टर लगाना एक अच्छा विचार हो सकता है जो आपकी आंखों को बचाएगा।

 

सावधानियां समझें और उनका पालन करें

लेसिक आई सर्जरी के बाद आंखों की देखभाल करना आपकी आंखों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। इससे आपकी सर्जरी सफलतापूर्वक और स्थिर रहेगी और आपके आंखों की सेहत भी बनी रहेगी। अगर आपको किसी भी प्रकार की समस्या या सवाल हो, तो अपने चिकित्सक से संपर्क करने में हिचकिचाहट न करें। समय पर उपचार लेने से आपकी स्थिति में सुधार हो सकता है।

 

लेसिक आई सर्जरी  के बाद आंखों के डॉक्टर (Eye Specialist) से मिलें और अपनी आंखों की देखभाल में दिखने वाली अपनी विशेषज्ञ सलाह आपके लिए सबसे अच्छा मार्गदर्शन हो सकता है। समय-समय पर नियमित जांच और सही देखभाल से आप अपनी आंखों को हमेशा स्वस्थ और समृद्ध रख सकते हैं।

Like358 Share268

Written and Verified by:

DR. LIPI MITTAL

DR. LIPI MITTAL

MBBS, MS (OPHTHALMOLOGY)

MEET THE EXPERT

Related Blogs

Get a Call Back

Book Appointment Call now 1800 1200 111